बीजेपी इस तरह से कर सकती है विधानसभा में बहुमत साबित

नई दिल्ली। कर्नाटक में शनिवार को सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद शाम चार बजे फ्लोर टेस्ट होगा। सुप्रीम कोर्ट राज्यपाल के पंद्रह दिनों के समय को घटाकर शनिवार शाम चार बजे तक फ्लोर टेस्ट कराने का आदेश दिया था। जिसके बाद आज शाम चार बजे बीजेपी सरकार को अपना बहुमत साबित करना है।

जिस तरह के हालात अभी कर्नाटक में हैं उससे कुछ निश्चित रूप से कहा नहीं जा सकता है लेकिन फिर बीजेपी के पास ये चार विकल्प हैं जिसके जरिए बीजेपी सदन में बहुमत साबित करने में सफल हो सकती है। बता दें कि कर्नाटक विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने कुल 104 सीटों पर जीत दर्ज की है। जबकि कांग्रेस के 78 और जेडी(एस) के पास 37 विधायक हैं। वर्तमान परिदृश्य में बीजेपी को सदन में बहुमत साबित करने के लिए कुल सात विधायकों की जरूरत है।

पहला विकल्प- यदि बीजेपी के कहने पर कांग्रेस और जेडीएस के 14 विधायक वोटिंग के दौरान सदन से बाहर रहें तब बीजेपी अासानी से अपने 104 के संख्याबल पर ही बहुमत के जादुई आंकड़े को छू लेगी।

दूसरा विकल्प-  कांग्रेस और जेडीएस के सात विधायक बीजेपी के पक्ष में वोटिंग कर दें तो इस स्थिति में भी बीजेपी 111 के बहुमत को हासिल कर लेगी।

तीसरा विकल्प- अगर बीजेपी कांग्रेस और जेडीएस के दो तिहाई विधायकों को तोड़ ले जाने में कामयाब हो जाती है तो वो दल-बदल कानून से बच जाएगी। हालांकि इसके लिए कांग्रेस के 52 और जेडीएस के 26 विधायकों को राजी करना होगा।

चौथा विकल्प- बीजेपी कांग्रेस और जेडीएस के 14 विधायकों का इस्तीफा दिलवा दे। अब सदन के सदस्यों की कुल संख्या 221 से 207 हो जाएगी और ऐसी स्थिति में बीजेपी 104 सीटों के साथ सरकार बना लेगी।