जम्मू-कश्मीर में पीएम मोदी: किया एशिया की सबसे लंबी सुरंग का शिलान्यास

जम्मू-कश्मीर। जम्मू एवं कश्मीर में पीएम मोदी ने एशिया की सबसे लंबी सुरंग का शिलान्यास किया। पीएम ने लेह और श्रीनगर के बीच इस स्थित इस सुरंग की आधारशिला रखी। यह सुरंग दोनों जगहों को हर मौसम में क्नेक्टिविटी प्रदान करेगी। सुरंग करीब 6,800 करोड़ रुपये की लागत से बनेगी  और यह एशिया की सबसे लंबी सुरंग होगी। इस सुरंग के माध्यम से यहां पर दो तरफा यात्रा की सुविधा दी जाएगी।

इस सुरंग के बन जाने से रणनीतिक रूप से काफी अहम हो जाएगा। लगभग तीन से चार घंटों की दूरी इस सुरंग के माध्यम से 15 मिनट में पूरी हो जाएगी। टू-लेन जोजिला सुरंग परियोजना सेना के लिए काफी महत्वपूर्ण मानी जा रही है। सुरंग की कुल लंबाई 14.2 किमी है। इसके निर्माण पर करीब छह हजार करोड़ की लागत आएगी। परियोजना को पूरा करने के लिए सात बर्षों का लक्ष्य रखा गया है। जम्मू-कश्मीर में सर्दियों के समय में लेह-लद्दाख और श्रीनगर के बीच संपर्क ज्यादातर समय बंद रहता है। इस सुरंग के बन जाने से हर मौसम में दोनों जगहों के बीच संपर्क बना रहेगा।

पीएम मोदी की यह यात्रा लेह से शुरू हुई। सबसे पहले पीएम 19वें लद्दाखी आध्यात्मिक गुरु कुशक बाकुला की 100वीं जयंती समारोह में शामिल हुए। पीएम मोदी ने यहां 19वें लद्दाखी आध्यात्मिक गुरु कुशक बाकुला को श्रद्धांजलि भी दी। इस अवसर पर पीएम मोदी ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के विकास परियोजना का दूसरे राज्यों के लोगों पर भी सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘पूरे जम्मू-कश्मीर राज्य में कृषि विकास के लिए अपार संभावनाएं हैं। बात जब संपूर्ण स्वास्थ्य के क्षेत्र में मदद करने की हो तो यह राज्य एक अहम भूमिका अदा कर सकता है।’ श्रीनगर से 450 किलोमीटर उत्तर में स्थित लेह में मोदी इससे पहले 12 अगस्त 2014 को आए थे और तब उन्होंने एक जल विद्युत परियोजना का शुभारंभ किया था।