‘केदारनाथ आपदा की सच्ची कहानी’ नामक पुस्तक का हुआ विमोचन

लखनऊ। गुरूवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शास्त्री भवन में उत्तराखण्ड राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री एवं सांसद रमेश पोखरियाल निशंक’ की पुस्तक केदारनाथ आपदा की सच्ची कहानी’ के भोजपुरी अनुवाद का विमोचन किया। इसके बाद शुक्रवार को उत्तराराखंड के पूर्व सीएम ने एक होटल में प्रेस काॅफ्रेंस करते हुये कहा कि यह पुस्तक वर्ष 2013 में उत्तराखण्ड के केदारनाथ धाम में आई आपदा की सच्ची घटनाओं पर आधारित है।

पुस्तक का भोजपुरी अनुवाद प्रो ए.एन. वर्मा द्वारा किया गया है। मीडिया को सम्बोधित करते हुए रमेश पोखरियाल ने कहा कि यह पुस्तक केदारनाथ में उनकी आँखों देखी ऐसी घटनाओं पर आधारित हैजिन्होंने उन्हें लम्बे समय तक विचलित रखा। उन्होंने कहा कि केदारनाथ की यात्रा के दौरान उन्होंने लोगों के अनेक रूप देखे। ऐसी अनेक घटनाएं देखीजब अपनों को खो चुके लोग दूसरों को बचाने के लिए अपने प्राण दांव पर लगा रहे थे।

पुस्तक में आपदा की स्थिति में मानव व्यवहार में होने वाले सकारात्मक बदलाव से सम्बन्धित प्रेरणादायी कहानियां हैं। वहीं कर्नाटक चुनाव में चल रहे घमासाल में निशंक ने कहा कि कर्नाटक में भाजपा की सरकार अपना बहुमत साबित करेगी। पार्टी नेतृत्व उस दिशा में काम कर रहा है। आज अटल बिहारी बाजपेयी का सपना मोदी और पार्टी अध्यक्ष अमित शाह पूरा कर रहे हैं।

वहीं सुप्रीम कोर्ट द्वारा यूपी के पूर्व मुख्यमंत्रियों को सरकारी आवास खाली कराने पर उत्तराखंड के पूर्व सीएम ने कहा सरकार को पुनः कोर्ट जाना चाहिए। अगर राज्य सरकार ने कोई कानून बनाया है और कोर्ट उस कानून के मनशा के अनुरूप फैसला नहीं देता है, तो यूपी सरकार अपनी बात को कोर्ट में रख सकती है।