तमिलनाडु के राज्यपाल पर नया बवाल, पत्रकारों ने पत्र लिखकर राज्यपाल से की माफी की मांग

चेन्नई। तमिलनाडु के राज्यपाल पर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान एक महिला पत्रकार की गाल को बिना उसकी अनुमति के छूने का आरोप लगा है। इस बात की जानकारी खुद उस महिला पत्रकार ने ट्विटर पर दी। महिला पत्रकार ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा कि ”जब राज्‍यपाल बनवारीलाल पुरोहित की प्रेस कांफ्रेंस खत्‍म होने वाली थी तो मैंने उनसे एक सवाल पूछा…उन्‍होंने जवाब में बिना मेरी सहमति के मेरे गाल को थपथपाया।”

इसके बाद महिला पत्रकार ने आगे लिखा है कि इस हरकत के बाद मैंने अपने गाल को कई बार धोया लेकिन मैं उनके इस हरकत को भुला नहीं पाई। राज्यपाल के द्वारा किये इस हरकत का तमिलनाडु के विपक्षी दल ने आलोजना की है। विपक्षी दल डीएमके ने इस घटना को अशोभनीय कृत बताया। वहीं दूसरी तरफ पत्रकारों ने एक पत्र लिखकर राज्यपाल से इस माफी की मांग की है।

इस मामले में द्रमुक की राज्यसभा सदस्य कनिमोई ने ट्वीट किया कि “अगर संदेह नहीं भी किया जाए तो भी संवैधानिक पदों पर बैठे व्यक्तियों को अपनी मर्यादा को समझनी चाहिए।” उन्होंने कहा कि एक महिला पत्रकार के निजी अंग को छूकर गरिमा का परिचय नहीं दिया या किसी भी इंसान द्वारा दिखाया जाने वाला सम्मान नहीं दर्शाया।

यह वाकया ऐसे वक्‍त हुआ जब राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित एक कॉलेज की महिला व्याख्याता के सेक्‍स स्‍कैंडल केस में हुई गिरफ्तारी के बाद प्रेस कांफ्रेंस कर रहे थे। उन्‍होंने कहा कि इस मामले में कड़ी कार्रवाई की जाएगी और दोषियों को दंडित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि यह मामला बेहद गंभीर है… ऐसा नहीं होना चाहिए था और दोषियों को दंडित किया जाएगा।