आलोक द्विवेदी, लखनऊ। उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षा परिषद द्वारा संचालित अरबी और फारसी की परीक्षाएं सोमवार से शुरू हो गई हैं जो 23 अगस्त तक चलेंगी। जानकारी के मुताबिक परीक्षा में 6346 परीक्षार्थी शामिल होंगे। परीक्षा दो पालियों में होगी। सुबह की पाली सुबह 8 बजे से 11 बजे तक होगी, जिसमें मुंशी एवं मौलवी के परीक्षार्थी शामिल होंगे। दूसरी पाली की परीक्षा दोपहर 2 बजे से 5 बजे तक होगी, जिसमें आलिम, कामिल और फाजिल कक्षाओं के परीक्षार्थी शामिल होंगे। लखनऊ में परीक्षा के लिए 11 केंद्र बनाए गए हैं।

परीक्षार्थियों के प्रवेशपत्र मदरसों की वेबसाइट पर उपलब्ध हैं। मदरसों द्वारा परीक्षार्थियों के प्रवेशपत्र डाउनलोड कर उन्हें उपलब्ध कराया जाएगा। परीक्षा की समय सारिणी परिषद की वेबसाइट पर जारी कर दी गई है। विस्तृत जानकारी के लिए किसी भी कार्य दिवस में कार्यालय जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी कलेक्ट्रेट लखनऊ से की जा सकती है। नकलविहीन परीक्षा और पारदर्शिता बनाए रखने के लिए तीन सचल दल, चार सेक्टर मजिस्ट्रेट और 11 स्टैटिक मजिस्ट्रेट लगाए गए हैं। जिला प्रशासन किसी भी दशा में नकल विहीन परीक्षा कराने के लिए प्रतिबद्ध है।

अल्पसंख्यक कल्याण राज्यमंत्री बलदेव सिंह औलख ने कहा कि अन्य परीक्षाओं की तरह हम मदरसा बोर्ड की भी नकलविहीन परीक्षा कराने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। हम चाहते हैं कि मदरसे के छात्र-छात्राएं भी पढ़कर अच्छी तरह से परीक्षा दें। उन्होंने कहा कि विगत एक वर्षों में उत्तर प्रदेश सरकार ने मदरसों की स्थिति में आमूलचूल परिवर्तन किया है। अध्यापकों ने पूरी ईमानदारी के साथ पढ़ाई कराई है। हमें उम्मीद है कि मदरसे के छात्र नकलविहीन परीक्षा का अभिन्न अंग बनेंगे।