नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार शाम को यूरोप की यात्रा पर निकलेंगे। पीएम मोदी इस यात्रा के दौरान ब्रिटेन और स्वीडन भी जाएंगे। पीएम मोदी की यह यात्रा 6 दिनों की होगी। जिसमें इन देशों के बीच कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा होने की संभावना है। अपनी यूरोप यात्रा के दौरान पीएम मोदी पहले स्वीडन और फिर ब्रिटेन का दौरा करेंगे। पीएम मोदी की ये यूरोप यात्रा 16 अप्रैल से 21 अप्रैल तक चलेगी।

अपनी ब्रिटेन यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री ब्रिटेन के साथ द्विपक्षीय संबंधों को और मजबूत बनाने पर चर्चा करेंगे। इसके अवाला मोदी राष्ट्रमंडल देशों के शासनाध्यक्षों के सम्मेलन (चोगम) में भी भाग लेंगे। अपनी यात्रा को लेकर पीएम मोदी ने ट्वीट किया कि वह व्यापार, निवेश और स्वच्छ ऊर्जा समेत विभिन्न क्षेत्रों में दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय साझेदारी गहरा बनाने को लेकर आशान्वित हैं। वहीं पीएम मोदी ने फेसबुक पर लिखा कि भारत और स्वीडन के बीच दोस्ताना रिश्ता है। हमारी साझेदारी लोकतांत्रिक मूल्यों तथा खुले, समावेशी एवं नियमों की बुनियाद पर टिकी वैश्विक व्यवस्था के प्रति कटिबद्धता पर आधारित है। स्वीडन हमारे विकास पहलों में एक मूल्यवान साझेदार है।

पीएम मोदी अपनी यात्रा के पहले पड़ाव पर स्वीडन की यात्रा पर जाएंगे। तीन दशकों में किसी भारतीय प्रधानमंत्री की यह पहली यात्रा होगी। स्वीडन यात्रा के दौरान मोदी द्विपक्षीय वार्ता करने के साथ प्रथम भारत-नोर्डिक सम्मेलन में हिस्सा लेंगे। स्वीडन की यात्रा के बाद पीएम मोदी 16 अप्रैल को शाम को स्टॉकहोम पहुंचेंगे। यहां पर पीएम मोदी 17 अप्रैल को कई बैठकों में शामिल होंगे। इसके बाद प्रधानमंत्री ब्रिटेन जाएंगे। यहां पर 18 अप्रैल को लंदन ‘भारत की बात, सबके साथ’ शीर्षक से एक परिचर्चा सत्र को संबोधित करेंगे।

मक्का मस्जिद ब्लास्ट केस में असीमानंद समेत अन्य आरोपी बरी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here