वाहन चोरी कर गिरवी रखने वाले गिरोह का खुलासा

देवरिया। वाहन लिफ्टरों का एक गिरोह गाड़ियों की चोरी करने के बाद उसे बंधक रख देता था। देवरिया के एसपी रोहन पी कनय ने गुरूवार को इस गिरोह का खुलासा किया। पुलिस ने इस गिरोह के सरगना को गिरफ्तार करते हुए उसकी निशानदेही पर पांच बाइक भी बरामद किया है।

एसपी ने बताया कि लार के थानेदार श्रवण यादव बुधवार की देर रात मेहरौना पुलिस चौकी पर वाहनों की चेकिंग कर रहे थे। उसी समय एक बाइक पर दो युवक आते हुए दिखाई दिए। पुलिस ने उन्हें रोका तो उन्होंने बाइक की गति तेज कर दी। इस पर पुलिस ने दौड़ाकर बाइक चला रहे एक युवक को पकड़ लिया जबकि दूसरा अंधेरे का लाभ उठा कर भागने में सफल रहा। पुलिस ने युवक से गाड़ी का कागज मांगा तो वह नहीं दिखा सका। पुलिस ने तलाशी ली तो उसके पाकेट से तीन मोबाइल और एक बैग से लैपटाप बरामद हुआ।

पूछताछ में युवक ने अपना नाम बलेन्दर उर्फ लाइन पुत्र ढ़ोढा गौड़ निवासी रामनगर शिवमंदिर थाना मुफस्सिल जिला सीवान, बिहार बताया। पुलिस ने सख्ती की तो उसने खुद को बाइक चोरी करने वाले गिरोह का सदस्य बताया। उसकी निशानदेही पर पांच बाइक बरामद की गई। वाहन लिफ्टर ने बताया कि गिरोह के एक सदस्य गमलेश गौड़ निवासी पचदेवराडीह लाना लार पहले ही बाइक चोरी में जिला कारागार में बंद है जबकि सीवान के गुठनी का रहने वाला दुर्गेश राजभर फरार है।

पुलिस के अनुसार यह गिरोह शहर में भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर पहुंच कर बाइक चोरी की घटना को अंजाम देने के बाद उसे कुछ रुपए लेकर लोगों के पास बंधक रख देता था। बाइक लिफ्टर के पास से चोरी की तीन मोबाइल व एक लैपटॉप भी मिला है।