आंबेडकर जयंती पर ‘दलित मित्र’ सम्मान से नवाजे गए सीएम योगी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बाबा साहेब आंबेडकर की 127वीं जंयती पर प्रदेशवासियों को बधाई दी। इस दौरान सीएम योगी को राजधानी लखनऊ में आंबेडकर महासभा ने दलित मित्र सम्मान से सम्मानित किया। इसके साथ ही उन्हें दलित मित्र की कुर्सी पर बैठाया गया। बाबा साहब भीमराव रामजी आंबेडकर की जयंती पर शनिवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अम्बेडकर महासभा को सम्बोधित किया। ऐसा पहली बार हुआ जब किसी मुख्यमंत्री को दलित मित्र सम्मान से सम्मानित किया गया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बाबा साहब ने विपरीत परिस्थितियों में अपना जीवन प्रारम्भ किया था। उन्होंने इस देश को संविधान दिया जिसमें बाबा साहब ने लिखा कि स्वाधीनता का मतलब एक ऐसे समाज का निर्माण है जहां समरसता हो, समानता हो, सबको जीवन के समान अवसर प्राप्त हो। सीएम योगी ने कहा कि आज भारत सरकार बाबा साहब के उसी लक्ष्य को लेकर आगे बढ़ रही है।  मुख्यमंत्री ने केंद्र सरकार की तारीफ करते हुए कहा कि बाबा साहब के पांच स्थानों को तीर्थ बनाने का काम पीएम मोदी ने किया है। इन पांच तीर्थों को विकसित करने का काम भाजपा सरकार में हुआ है। सीएम योगी ने बताया कि लाल जी प्रसाद निर्मल ने बाबा साहब की फोटो सरकारी कार्यालयों में लगाने का प्रस्ताव रखा था, जिसे हमने तुरंत माना और इसका आदेश जारी किया।

गरीब किसानों, नौजवानों, छात्रों, बेटियों के हित में काम किया 

मुख्यमंत्री ने सभा को सम्बोधित करते हुए बताया कि मोदी सरकार में 35 करोड़ गरीब वंचितों के बैंक अकॉउंट खोले गए। 40 लाख व्यक्तिोयों को शौचालय उपलब्ध कराया गया। इसके साथ कई विकास कार्य हुए जिनमें हर दलित, वंचित और गरीब लाभान्वित हुआ। उन्होंने कहा कि हमारा ग्राम्य विकास विभाग गावों में जाकर वंचितों को मजबूत करने का काम कर रहा है। पिछले 1 वर्ष के दौरान 37 लाख राशन कार्ड बनवाये गये ताकि किसी को कोई समस्या न हो। साथ ही उन्होंने बताया कि अनुसूचित जाति के 21 लाख विद्यार्थियों में से 14 लाख को ही छात्रवृत्ति मिल रही थी। हमसे पहले की सरकारों ने इस पर ध्यान नहीं दिया लेकिन हमने 21 लाख अनुसूचित जाति के बच्चों को छात्रवृत्ति देने का काम किया।

उन्होंने बताया कि हमने 2 अक्टूबर तक पहली किश्त और 26 जनवरी तक दूसरी किश्त देने का फैसला लिया है। इस साल 2 लाख से बढ़ाकर ढाई लाख की वार्षिक आय वाले परिवार के बच्चों को सरकार छात्रवृत्ति देने जा रही हैं। इस बार छात्रवृत्ति की राशि 2250 से बढ़कर 3000 कर दी जा रही है। इसी तरह दशमोत्तर छात्रवृत्ति में बढ़ोत्तरी करते हुए डे स्कॉलर को 550 और हॉस्टलर को 1250 रूपये दिये जायेंगे। बीए, बीएससी, बीकाम करने वाले डे स्कॉलर को 300 और हॉस्टलर को 500 रुपये दिये जायेंगे।

मुख्यमंत्री ने बताया कि मुसहर जाति के साथ ऐसी ही अन्य जातियों के लिए एक कमीशन बैठाकर सरकारी सुविधाओं से वंचित लोगों तक विकास पहुंचाने का काम किया जायेगा। वहीं अनुसूचित जाति जनजाति के परिवारों की कन्याओं के विवाह के लिए प्रति लाभार्थी 20 हज़ार से बढ़ाकर 35 हजार कर दिया है। स्कूल चलो अभियान के तहत सभी बच्चों को स्कूल से जोड़ने का काम किया जा रहा है। वहीं भारत सरकार भी आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत 5 लाख की सहायता देने जा रही है।

देश के शीर्ष पद पर ये जरूर पहुंचेंगे योगी: लालजी 

महासभा को सम्बोधित करते हुए अम्बेडकर महासभा के अध्यक्ष डॉ लालजी प्रसाद निर्मल ने कहा कि सीएम योगी को इस प्रदेश की सीमा रोक नही पायेगी, देश के शीर्ष पद पर ये जरूर पहुंचेंगे। इसके बाद उन्होंने सीएम योगी को दलित सम्मान देकर सम्मानित किया। इसके बाद मुख्य मंत्री को दलित मित्र की कुर्सी पर भी बिठाया गया। कुर्सी पर सीएम ने बैठकर फोटो भी खिंचवाई। इसके साथ ही गवर्नर रामनाईक को स्मृति चिन्ह देकर भी सम्मानित किया गया। वहीं डॉ लालजी प्रसाद निर्मल ने आंबेडकर महासभा की दीवाल की ओर इशारा करते हुए कहा कि ये बहुत कष्ट देती है।

उन्होंने कहा कि जब पीएम मोदी यहां आए थे तो तत्कालीन सीएम ने 5 एकड़ जमीन देने की बात कही थी लेकिन हमें नहीं मिली। सीजी सिटी में 4 एकड़ जमीन एलडीए ने चिन्हित करके शासन को प्रस्ताव भेजा था लेकिन हमें नहीं मिली। इसलिए इस दिशा में थोड़ा काम कीजियेए जिससे हम एक लाइब्रेरी और म्यूजियम बनवा सके। इस अवसर पर महासभा में राज्यपाल राम नाईक, सीएम योगी, डिप्टी सीएम डॉ दिनेश शर्मा, अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री बलदेव सिंह औलख और मेयर संयुक्ता भाटिया मौजूद रहे।