आरोपी विधायक पर कसा शिकंजा, सीबीआई ने विधायक को किया गिरफ्तार

लखनऊ। उन्नाव गैंगरेप मामले में लगातार हंगामे का दौर जारी है। यूपी सरकार की ओर से सीबीआई जांच की सिफारिश को केंद्र सरकार की मंजूरी के बाद सीबीआई ने मामले में जांच शुरू कर दी है। सीबीआई ने आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को शुक्रवार तड़के हिरासत में ले लिया और पूछताछ की। वहीं पीड़िता ने एक बार फिर से न्याय की गुहार लगाते हुए आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को सख्त सजा देने की मांग की है। दूसरी ओर पूरे मामले पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अपराधी कोई भी हो उसे बख्शा नहीं जाएगा।

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सरकार अपराध और भ्रष्टाचार के मुद्दे पर जीरो टॉलरेंस पर काम कर रही है। आरोपी विधायक को सीबीआई ने सुबह 5 बजे गिरफ्तार किया। पॉक्सो एक्ट के तहत उनके खिलाफ मामला दर्ज हुआ था। सीबीआई को जांच की कमान मिलते ही उसने तुरंत एक्शन लिया। सीबीआई ने तुरंत आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को उनके लखनऊ स्थित घर से गिरफ्तार कर लिया। सीबीआई की कुल 7 लोगों की टीम आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर से पूछताछ की।

सीबीआई ने विधायक से पूछे ये सवाल

सीबीआई ने कुलदीप सिंह सेंगर से घटना की पूरी जानकारी ली। अभी तक सीबीआई ने ये भी पूछा है कि वो घटना के वक़्त कहां थे। सवाल नंबर एक वे घटना के वक्त कहां थेघ। सवाल नंबर दो सीबीआई ने ऑडियो के बारे में विधायक से सवाल पूछे। सवाल नंबर तीन विधायक के भाई अतुल और महेश घटना के वक़्त कहां थे। सवाल नंबर चार सीबीआई ने विधायक से पूछा है कि वो पीड़ित परिवार को कैसे जानते हैं और कब से। सवाल नंबर पांच क्या घटना के बाद कुलदीप सिंह ने थाने में फोन करके मामले को दबाने की कोशिश की थी। सवाल नंबर छः क्या अस्पताल में जबरदस्ती उनके कहने पर स्टेटमेंट पर अंगूठा लगाया गया था।

सीबीआई ने उन्नाव में भी खंघाले साक्ष्य 

उन्नाव सदर कोतवाली क्षेत्र के स्थित एक होटल में केंद्रीय जांच ब्यूरो की टीम दुष्कर्म पीड़िता और परिजनों से बातचीत की। जनपद में केंद्रीय जांच ब्यूरो की दस सदस्यीय टीम आई है जिसमें से पांच अधिकारी होटल में पीड़ित परिजनों से बात किये। जबकि पांच अन्य अधिकारी भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के गांव माखी पहुंचे थे। वहां वह गांवों में लोगों से बातचीत किये। केंद्रीय जांच ब्यूरो की टीम होटल में पीड़ित परिजनों से बातचीत करने के बाद जिला अस्पताल का दौरा किया।वहां वह डॉक्टरों से भी पूछताछ की। बता दें कि एसआईटी टीम गठित होने के बाद शासन ने जांच रिपोर्ट के आधार पर मुख्य चिकित्सा अधीक्षक सहित दो डॉक्टरों को निलंबित कर दिया था। तत्कालीन पुलिस अधीक्षक नेहा पांडे से भी केंद्रीय जांच ब्यूरो की टीम द्वारा पूछताछ की जानकारी मिली।

पीड़िता ने  सख्त कार्रवाई की मांग 

उन्नाव कांड के मामले में सीबीआई ने बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को हिरासत में लेकर पूछताछ  कर रही थी। उसी दरम्यान इस पीड़िता का भी बयान आया। पीड़िता ने कहा कि मैं तो शुरुआत से ही इस मामले की सीबीआई जांच चाहती थी। इंसाफ मिलता हुआ तो नजर आ रहा है, यहां तक तो सही है, लेकिन आगे मुझे भरोसा नहीं है, अभी उन्हें गिरफ्तार किया जाएगा फिर उन्हें छोड़ दिया जाएगा तो फिर क्या होगा, उसने कहा कि विधायक के खिलाफ सख्त कारवाई हो और उसे कड़ी सजा मिले।

चाचा ने कहा न्याय की शुरुआत

दुष्कर्म पीड़िता के चाचा ने बताया कि अभी तमाम आरोपी पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं, जब तक उन सब की गिरफ्तारी नहीं हो जाती तब तक कुछ कहना जल्दबाजी होगी उन्होंने कहा कि यह न्याय पाने की शुरुआत मात्र है।