सामने आई चीनी सैनिकों की ओछी करतूत, तिब्बतियों की हत्या के बाद नदी में बहा देते हैं लाश

नई दिल्ली। तिब्बत में चीनी सैनिकों की एक ओछी करतूत सामने आई है। खबर है कि चीनी सैनिक स्थानीय तिब्बतियों को मार कर उनकी लाश को नदी में बहा देते हैं। अरुणाचल प्रदेश में बर्षों से अपना दावा ठोकने वाले चीन तिब्बतियों पर रणनीतिक दवाब बनाने के लिए ऐसा कर रहे हैं।

चीनी सैनिकों पर एक रिपोर्ट के जरिये ये सनसनीखेज खुलासा हुआ है। स्थानीय लोगों ने चीन के इस करतूत के बारे में बताया। लोगों का कहना है कि इलाके में चीनी सैनिकों का विरोध करने वाले लोगों को चीनी सैनिक मार कर पास के ही निगिचू नदी में फेंक देते हैं। जो भारत में आकर लोहित नदी के नाम से जाता है। दोनों देशों की सीमाएं काफी नजदीक होने की वजह से लोगों की लाशों का पता नहीं मिल पाता है।

इसकी वजह से मृत लोगों के परिजनों को लाश का पता नहीं मिल पाता है और उनकी शिनाख्त नहीं हो पाती है। रिपोर्ट के अनुसार, अरुणाचल प्रदेश के किविथू से सटी लाइन ऑफ कंट्रोल पर भारत और चीन के बीच अक्सर तनातनी देखी जाती है। इस इलाके पर वे अपना दावा करते हैं जिसपर भारतीय सैनिक की ओर से जवाबी कार्रवाई होती है और पत्थरों पर लिखे उनके दावे ठोकने वाले संदेशों को मिटाया जाता है। जवाब दिया जाता है- ‘नो दिस इज इंडिया यू विड्रॉ।’

राज्यपाल ने सैनिक कल्याण एवं पुनर्वास निधि के अटारी प्रक्षेत्र का किया भ्रमण