नई दिल्ली। हनुमान जयंती पर शनिवार को देश के अलग-अलग हिस्सों में हनुमान जी के मंदिर में लोगों की भीड़ उमड़ रही है। मंदिरों को फूलों से सजाया गया है। हनुमानजी का विशेष शृंगार के साथ अभिषेक कर चोला भी चढ़ाया गया है। कई जगहों पर हनुमान जयंती की शुरुआत रात 12 बजे के बाद हुई। इसके साथ ही शुरुआत के समय रात 12 बजे अखंड रामायण पाठ भी किया गया।

हनुमान जयंती के मौके पर देश के अलग-अलग शहरों में संकट मोचन हनुमान के मंदिरों को भव्य रूप से सजाया गया है। हनुमान मंदिर पर चल रहे यज्ञ की पूर्णाहुति शनिवार को दी गई। हिंदू जागरण मंच द्वारा सुबह 8.30 बजे इंदौर के बड़ा गणपति से हनुमान चौक तक धर्म ध्वजा यात्रा निकाली गई।

रामनवमी के जुलूस के दौरान पश्चिम बंगाल व बिहार के औरंगाबाद में भारी बवाल को लेकर राज्य पुलिस पूरी तरह सतर्क है। शनिवार को हनुमान जयंती मनाई जा रही है। पहली बार हनुमान जयंती के अवसर पर भी पुलिस ने सुरक्षा व्यवस्था को लेकर जिले में पुख्ता इंतजाम किया है। पूरे जिले की पुलिस को अलर्ट किया गया है।

नौ साल बाद ऐसा संयोग

नौ साल बाद शनिवार के दिन हनुमान जयंती पड़ रही है। इसके साथ ही ज्योतिषी हिसाब से कई मंगलकारी योग बन रहे हैं। शनिवार को ही मंगल और शनि धनु राशि में हैं। शनि और मंगल का विशेष द्विग्रही योग बन रहा है। हस्त नक्षत्र भी है। काफी समय बाद मार्च के माह में ही हनुमान जयंती पड़ रही है। चूंकि इस नवसंवत्सर के राजा सूर्य और मंत्री शनि हैं, इसलिए भी हनुमान जयंती खास है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here