लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी अध्यक्ष मायावती ने उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था को ध्वस्त बताते हुये कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) शासन में इलाहाबाद में दलित छात्र की हत्या कोई नई घटना नहीं है। मायावती ने कहा कि भाजपा शासन के दौरान प्रदेश की कानून-व्यवस्था ध्वस्त है। इलाहाबाद में दलित छात्र की नृशंस हत्या भाजपा शासन में कोई अकेली घटना नहीं है।

उन्होंने कहा कि ऐसी दर्दनाक घटनायें लगातार हो रही हैं। इसके लिये भाजपा की संकीर्ण, जातिवादी एवं नफरत की राजनीति पूरी तरह से दोषी है। उत्तर प्रदेश में ही नहीं, पूरे देश में अराजकता का माहौल है। सर्वसमाज के पढ़े-लिखे युवक रोजगार नहीं मिल पाने के कारण कुण्ठा के शिकार हैं। अपराध बढ़ रहे हैं तथा समाज का तानाबाना भी बिखऱ रहा है।

उन्होंने कहा कि शोषित-पीड़ित दलित समाज में आजादी के लगभग 70 वर्षों के बाद भी उच्च शिक्षा नाम मात्र है। एक होनहार एलएलबी छात्र की हत्या पूरे समाज के लिये ही बड़े दु:ख एवं चिन्ता की बात है। इससे पूरा समाज आहत हुआ है। बसपा प्रमुख मायावती ने कहा कि राज्य सरकार को दोषियों को सजा दिलवाने के साथ-साथ पीड़ित परिवार की मदद करनी चाहिए। 

लखनऊ विधानसभा तीसरे दिन भी हंगामें की भेंट चढ़ा, विपक्ष ने सदन से वाकआउट किया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here