Reading Time: 1 minute

नई दिल्ली। देश में नोटबंदी के बाद अब सिक्काबंदी भी होने वाली है। आरबीआई ने अब सिक्कों की छपाई का काम रोक दिया है। इसके साथ ही चारों टकसाल ने अब इसका उत्पादन भी बंद कर दिया है। सूत्रों के मुताबिक, नोटबंदी के दौरान लोगों की ओर से बैंकों में जमा की गई करेंसी के चलते आरबीआई टकसाल से कम सिक्के उठा रहा है। इस वजह से टकसाल में सिक्कों की मात्रा ज्यादा हो गई है। इसी के चलते सिक्के बनाने पर रोक लगा दी गई है।

इकोनॉमिक टाइम्स के अनुसार, आरबीआई के एक सीनियर अधिकारी ने कहा कि टकसालों से सिक्के इसलिए कम उठाए जा रहे हैं क्योंकि, आरबीआई के कोषागार में पर्याप्त जगह ही नहीं है। कोषागार में पुराने 500 और 1000 रुपए के नोट भरे हैं। बता दें कि सिक्यॉरिटी प्रिंटिंग एंड मिंटिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया के पास मुंबई, कोलकाता, हैदराबाद और नोएडा में टकसाल हैं। यहीं पर इसका उत्पादन होता है। आईबीआई इन्हीं जगहों से सिक्कों को उठाती है।

मुंबई मिंट के इंटरनल नोटिस में कहा गया, ‘एसपीएमसीआईएल से मिले निर्देश के अनुसार इंडिया गवर्नमेंट मिंट, मुंबई में सर्कुलेशन कॉइंस का उत्पादन तत्काल प्रभाव से रोक दिया जाएगा।’ हालांकि, सिक्का का उत्पादन रुकने से आम पब्लिक को कोई परेशानी नहीं होगी। क्योंकि, आरबीआई के पास पर्याप्त सिक्के हैं। 24 नवंबर 2016 को आरबीआई के पास करीब 1, 2, 5 और 10 रुपए के 676 करोड़ रुपए मूल्य के सिक्के थे।

मुख्यमंत्री और राज्यपाल ने पूर्व पीएम लाल बहादुर शास्त्री को दी श्रद्धांजलि

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here