राजीव शर्मा, बहराइच। “ऐसा भी देखो वक्त जीवन में आता है, अच्छा खासा दोस्त भी दुश्मन बन जाता है।” कुछ ऐसी ही मेल खाती एक जीवन्त घटना सीमावर्ती जिले बहराइच में सामने आई है। जहाँ एक साथ कॉलेज में पढ़ने वाले छात्रों ने लेनदेन के विवाद का बदला लेने के लिये अपने एक दोस्त को क्रिमिनल केस में फ़ंसाने का एक बड़ा सनसनीखेज गेम रच डाला। जिसका खुलासा होते ही पूरे षड्यंत्र में शामिल 2 शातिरों को पुलिस टीम ने गिरफ्तार कर जेल की सलाखों में पहुंचा दिया है, जबकि मुख्य अभियुक्त सऊद अहमद का अभी जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है।

बता दें कि बहराइच जिले के पॉलिटेक्निक कॉलेज में पढ़ने वाले 3 शातिर दोस्तों द्वारा रची गयी ये पूरी क्रिमिनल स्टोरी है। बीते 28 नवम्बर के दिन पॉलटेक्निक कॉलेज में इंजीनियरिंग का डिप्लोमा कर रहे छात्र मोहम्मद सऊद खाँ ने इस बात का आरोप लगाकर सनसनी फैला दी थी कि 2 अज्ञात बाईक सवारों ने कॉलेज के पास उसे घेरकर गोली मारने का कांड करके फरार हो गए हैं। इस घटना में सऊद अहमद के पांव में गोली लगी थी। जिसे गम्भीर अवस्था में उसके दोस्तों ने जिला अस्पताल में भर्ती कराया था। इस घटना की भनक पाकर जब पुलिस टीम द्वारा कड़ाई से मामले की तफ़्तीश की गयी तो जाँच पड़ताल के बाद माजरा कुछ और ही निकला। जिसमें खुलासा हुआ कि आरोप लगाने वाले छात्र सऊद अहमद ने सलमान नाम के एक साथी को क्रिमिनल केस में फ़ंसाने के लिये पूरा स्वांग रचा था, जिसके साथ उसका पिछले काफी दिनों से रूपये के लेनदेन को लेकर विवाद चल रहा था।

इस घटना में शामिल दो अभियुक्त गिरफ्तार हो चुके हैं। साथ ही घटना में प्रयुक्त तमंचा व खोखा कारतूस व एक मोटरसाईकिल बरामद कर ली गयी है। बीते 28 सितंबर को वादी मुकदमा मो0 सईद खाँ पुत्र स्व0 अब्दुल गफूर खाँ निवासी काजीपुरा उत्तरी थाना कोतवाली नगर बहराइच द्वारा अपने पुत्र सउद खाँ उर्फ सनी जो कि पालिटेक्निक बहराइच में इन्जीनियरिंग डिप्लोमा कर रहा है, के ऊपर दो अज्ञात व्यक्तियों द्वारा कट्टे से फायर कर घायल करने के सम्बन्ध में मुकदमा अपराध संख्या 2682/17 धारा 307/506 भादवि बनाम अज्ञात थाना दरगाह शरीफ बहराइच में पंजीकृत कराया था। उक्त अभियोग के खुलासे व अभियुक्तगण की जल्द से जल्द गिरफ्तारी का सख्त निर्देश एसपी जुगुल किशोर की तरफ से थानाध्यक्ष दरगाह शरीफ को दिया गया था।

उक्त निर्देश के क्रम में थाना दरगाह शरीफ मय हमराह फोर्स के आसाम रोड़ चौराहे पर मौजूद थे कि तभी खास मुखविर की सुरागरसी के आधार पर पता चला कि जो घटना लिखवाई गई है वह पूरी तरह असत्य है जबकि सत्यता यह है कि  मुकदमा दर्ज कराने वाले वादी पक्ष के लड़के सउद खाँ उर्फ सनी ने अपने दो अन्य साथी नितेश सिंह तथा सिराज के साथ मिलकर षडयन्त्र कर जान-बूझ कर सलमान पुत्र प्यारे मियां निवासी बड़ी हाट थाना कोतवाली नगर जिला बहराइच, जिससे उसका पैसे की लेनदेन का विवाद चल रहा है। उसको फर्जी मुकदमे में फ़साने के उद्देश्य से भिनगा रोड पर बड़ी नहर के किनारे ग्राम दिकौली के अंतर्गत एकांत में ले जाकर सउद खाँ के पैर में गोली मार दिया तथा अस्पताल ले जाकर भर्ती करा दिया।

टूटे पड़े हाईटेंशन तार में चिपक कर दो युवकों की मौत, ग्रामीणों में गुस्से की लहर

मुखबिर की सूचना के आधार पर आसाम चौराहे से समय 14.10 बजे दो अभियुक्तों को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई तो उन्होंने मुखबिर की सूचना की पुष्टि करते हुए स्वीकार किया कि उन्होंने घायल शनि के कहने पर सलमान को फ़साने के उद्देश्य से शनि के पैर में गोली मारकर अस्पताल में भर्ती करा दिया। अभियुक्तगण के निशानदेही पर घटना में प्रयुक्त असलहा व कारतूश तथा घटना में प्रयुक्त अपाची मोटकसाइकिल को बरामद किया गया। अभियुक्तगण को धारा 307/120 b/195/ ipc & 3/25 arms act के तहत जेल भेजा जा रहा है।

गिरफ्तार अभियुक्तः-
1 . नितेश सिंह पुत्र रूद्र प्रताप सिंह निवासी आहोपुर थाना आसपुर देवसरा जनपद प्रताप गढ.
2 . सिराज पुत्र साहब उर्फ एजाजुलहसन निवासी चाँदपुरा थाना कोतवाली नगर बहराइच
बरामदगी-
1- एक अदद अवैध कट्टा 315 वोर
2-एक अदद फायर शुदा खोखा कारतूस 315 वोर
3-घटना में प्रयुक्त अपाची मोटर साइकिल नं0 यू0पी040 ए बी 3694
बरामदगी व गिरफ्तारी टीम  – थाना दरगाह शरीफ बहराइच
1-उपनिरीक्षक संजय कुमार दुबे  – थाना दरगाह शरीफ बहराइच
2- उपनिरीक्षक जितेन्द्र पाल सिंह  – थाना दरगाह शरीफ बहराइच
3- उपनिरीक्षक विनोद कुमार मिश्रा – थाना दरगाह शरीफ बहराइच
4- उपनिरीक्षक अजय कुमार तिवारी – थाना दरगाह शरीफ बहराइच
5-का0 शोभित सिंह – थाना दरगाह शरीफ बहराइच
6-का0 राजेश कुमार – थाना दरगाह शरीफ बहराइच
7-का0 राकेश कुमार पाण्डेय – थाना दरगाह शरीफ बहराइच
8-का0 संतोष सिंह – थाना दरगाह शरीफ बहराइच
9- का0 विनोद कुमार सोनी – थाना दरगाह शरीफ बहराइच
10-का0 सैय्यद इरफान अहमद – थाना दरगाह शरीफ बहराइच
11-का0 अखिलेश राय  – थाना दरगाह शरीफ बहराइच
उक्त सराहनीय कार्य हेतु पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा 5000 रूपये नकद पुरस्कार प्रदान करने की घोषणा की गई है।