लखनऊ। राजधानी के अलग-अलग थानाक्षेत्र में बुधवार को महिला सहित तीन लोगों ने खुदकुशी कर ली। पुलिस के मानें तो किसी ने आर्थिक तंगी के चलते खुदकुशी की है, तो किसी ने नौकरी छूट जाने से आहत होकर अपनी जान दी है। फिलहाल पुलिस ने सभी के शवों को पोस्टमार्टम भेजकर मामले की जांच में जुट गई है।

पहली घटना अलीगंज थानाक्षेत्र की है। यहां के त्रिवेणीनगर आदर्शपुरम में रहने वाला मनीष पाठक ने बताया कि बुधवार की सुबह वह पड़ोसी के घर किसी काम से गये तो देखा कि विनय का शव आंगन में लगे जाल में कपड़े का फंदा बनाकर फांसी पर लटका हुआ है। मनीष ने इस मामले की जानकारी मृतक के परिवार को देते हुए पुलिस को सूचना दी। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को फांसी के फंदे से उतार घटनास्थल की जांच की। तहकीकात में पता चला है कि युवक मेडिकल स्टोर में नौकरी करता था। दो माह पूर्व नौकरी छूट जाने के कारण वह काफी परेशान चल रहा था। डिप्रेशन में आकर उसने खुदकुशी कर ली है।

दूसरी घटना ठाकुरगंज के कंघी टोल निवाजगंज की है। यहां पर रहने वाला प्रदीप एक कपड़े की दुकान में नौकरी करता था। उसके परिवार में पत्नी मधु एक बेटा मयंक है। पत्नी ने बताया कि देररात्रि खाना पीना खाने के बाद सभी लोग एक कमरे में सोये हुए थे। बुधवार की सुबह नींद खुली तो पति का शव बल्ली में साड़ी के फंदे से लटका पाया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर मामले की जांच शुरु कर दी। पूछताछ पर मधु ने बताया कि घर की आर्थिक तंगी के चलते पति ने खुदकुशी की है।

तीसरी घटना काकोरी थानाक्षेत्र स्थित अंधपुर गांव की है। यहां के रहने वाली सुनीता ने बताया कि बुधवार को उसके पति कल्लू (40) ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने छत में लगी लोहे की राड में गमछे के सहारे लटके शव को नीचे उतारकर परिवार से पूछताछ शुरु कर दी। सुनीता ने बताया कि पति दैनिक मजदूरी करके परिवार का भरण पोषण करते थे। लेकिन वो जो कमाते थे, उससे परिवार का घर खर्च नहीं चल पाता था। दिन-प्रतिदिन घर की माली हालत बिगड़ने लगी, जिससे आहत होकर उन्होंने अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। पुलिस ने बताया कि शव को पोस्टमार्टम भेज मामले की जांच की जा रही है।