वेंविक टेक सॉल्यूशंस पूरी दिल्ली में करेगी करीब 1500 वेंविक जीएसटी सुविधा केंद्रों का विकास

नई दिल्ली। लोकसभा सांसद और भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय प्रवक्ता मीनाक्षी लेखी ने आज नई दिल्ली में वेंविक जीएसटी सुविधा केंद्र का उदघाटन किया। आज 150 से अधिक वेंविक जीएसटी सुविधा केंद्र खोले गए जहां जीएसटी से संबंधित सभी समाधान जैसे नया जीएसटी नम्बर, पंजीकरण, माइग्रेशन, जीएसटी रिटन्र्स की इनवॉइस अपलोडिंग और कई अन्य सेवाएं उपलब्ध होंगी। नई दिल्ली में वेंविक जीएसटी सुविधा केंद्र की स्थापना की प्रशंसा करते हुए श्रीमती मीनाक्षी लेखी ने विश्वास व्यक्त किया कि भारत सरकार जीएसटी के रिटर्न फाइल करने में छोटे कारोबारियों की दिक्कतों को दूर करने का प्रयास कर रही है और वेंविक जीएसटी सुविधा केंद्र के लाभ जल्दी ही पूरे देश में मिलने लगेंगे। इससे देश में रोजगार के नए अवसर पैदा होंगे।

उदघाटन समारोह में श्री प्रदीप आचार्य, कमेटी सदस्य- राष्ट्रीय आॅक्यूपेशनल स्टैंडर्ड, भारत सरकार भी मौजूद थे जिन्होंने वेंविक जीएसटी सुविधा केंद्र के विचार को आगे बढ़ाया ताकि छोटे कारोबारियों और व्यापारियों को कम से कम लागत पर सेवाएं दी जा सकें और वे देश की प्रगति में भागीदार बन सकें। वेंविक टेक सॉल्यूशंस ने इन जीएसटी सुविधा केंद्रों के उत्तर भारत में सही संचालन के लिए दिल्ली स्थित माइंड वम्र्स के साथ साझेदारी की है। उदघाटन समारोह में स्थानीय उद्यमियों और वेंविक जीएसटी सुविधा केंद्र के पार्टनरों ने हिस्सा लिया जो राजधानी में इस प्रकार के केंद्र की स्थापना से बहुत उत्साहित थे।

इस मौके पर वेंविक टेक सॉल्यूशंस के प्रमोटर श्री ई श्रीधर ने कहा-‘‘हम पूरी दिल्ली में करीब 1500 वेंविक जीएसटी सुविधा केंद्र विकसित करेंगे। इन केंद्रों का मकसद जीएसटी के दायरे में आए छोटे उद्यमियों और कारोबारियों के सामने आने वाली दिक्कतों को दूर करना है। कम लागत का मॉडल वाले इन केंद्रों से जीएसटी फाइल करने संबंधी बोझ कम होगा और भारत के सबसे बड़े टैक्स सुधार की सफलता में मदद मिलेगी।” वेंविक जीएसटी सुविधा केंद्र अपने ग्राहकों को सम्पूर्ण समाधान उपलब्ध कराएंगे। ये समाधान आॅनलाइन पोर्टल के अलावा अनेक सेवाएं देंगे जिनमें जीएसटी पंजीकरण, डिजिटल सिगनेचर, चैबीसों घंटे वॉयस एवं आॅनलाइन सपोर्ट, जीएसटी एकाउंट फोन, लैपटॉप, टेबलेट या अन्य टच प्वाइंट पर देखने के लिए सपोर्ट एवं सिंगल विंडो एकाउंट मैनेजमेंट ‘शामिल हैं। इन केंद्रों पर जीएसटी के दिशा निर्देशों के अनुरुप इनवॉयस फॉर्मेट भी उपलब्ध होंगे।

श्री अंबरीश पाराशर, नॉर्थ इंडिया पार्टनर, माइंड वम्र्स ने कहा, ’‘देश में बड़ी संख्या में छोटे कारोबारी और उद्यमी ऐसे हैं जिन्होंने पहले अपनी वित्तीय रिपोर्टिंग के लिए कभी डिजिटल टूल्स का इस्तेमाल किया। हमारे दक्ष पेशेवर उनकी जरूरतों को समझते हैं और वे उन्हें जीएसटी व्यवस्था की तमाम जरूरतें पूरी करने में मदद करेंगे। इसके लिए ‘शुल्क बहुत किफायती है और इसका मकसद ग्राहकों को आसान एवं सुरक्षित समाधान देना है।” माइंड वम्र्स के श्री लव त्रिखा ने कहा-‘‘हमें वेंविक टेक सॉल्यूशंस के साथ साझेदारी करते हुए हर्ष हो रहा है और हम वेंविक जीएसटी सुविधा केंद्रों के सुगम संचालन में सहायता करेंगे। हम इस क्षेत्र में कार्य करने को उत्सुक हैं।”

श्री अंकुश नारंग, डिस्टिंक्ट सर्विस पार्टनर, मध्य दिल्ली ने कहा-‘‘नए जीएसटी नम्बर लेने और रिटर्न फाइलिंग की सुविधाओं की महंगी कीमत से बाजार में अफरातफरी मची है। लेकिन वेंविक जीएसटी सुविधा केंद्र स्थापित होने से छोटे और मझोले कारोबारियों को बहुत मदद मिलेगी और व भारत के विकास की मुख्य धारा में ‘शामिल हो सकेंगे।” श्री किशोर झा, डिस्टिंक्ट सर्विस पार्टनर, उत्तरी दिल्ली ने कहा-‘‘वेंविक सुविधा केंद्र न सिर्फ छोटे कारोबारियों का ख्याल रखेंगे बल्कि बेरोजगार युवकों के लिए नए अवसर उपलब्ध कराएंगे जो भारत के विकास में भागीदारी के लिए अपने पांवों पर खड़े हो रहे हैं। इन केंद्रों से दिल्ली में 4500 से अधिक युवाओं को रोजगार मिलेगा।”

वेंविक जीएसटी सुविधा केंद्र प्रशिक्षित पेशेवरों से लैस होंगे जो जीएसटी व्यवस्था की तमाम जरूरतों में माहिर हैं। वेंविक टेक सॉल्यूशंस के बारे में वेंविक टेक सॉल्यूशंस एक विविधिकृत कंपनी है जो अपनी अनोखी प्रबंधन विशेषज्ञता, विभिन्न प्रकार के ग्राहकों एवं सेवाओं के साथ सरकारी एवं अर्ध सरकारी क्षेत्रों एवं निजी क्षेत्रों एमएनसी की परियोजनाओं में काम करती है। वेंविक अपनी विशेषज्ञता का लाभ उठाकर स्थानीय स्तर पर विकसित समाधान मुहैया कराती है जो विभिन्न प्रकार के ग्राहकों की अलग-अलग जरूरतों को पूरा करती है।

कंपनी 2015 में ऐसे मूल्य के साथ स्थापित की गई थी जो बाजार की सफलता लाता है और इसकी ‘शुरूआत कंपनी की टैगलाइन ’’वी मेक इन काउंट’’ के मुताबिक ऐसे समाधानों को प्रेरित करने और क्रियान्वित करने के दृष्टिकोण से की गई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here