लखनऊ। राजधानी लखनऊ में वायरस जनित बीमारियां तेज़ी से पांव पसार रही हैं, उन्ही में से एक है चिकनगुनिया। लखनऊ में चिकनगुनिया के मरीजों की संख्या में लगातार बढ़ती जा रही है। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक अब तक चिकनगुनिया के 73 मरीज सामने आये हैं। फिलहाल सरकारी आंकड़ों में किसी भी मरीज की इस बीमारी से मृत्यु की पुष्टि नहीं हुई है।

लखनऊ के सीएमओ डा. जीएस ने बताया कि जनवरी से अब तक शहर में कुल 73 मरीज चिकनगुनिया के मिले हैं। इनमें से अधिकांश मरीज ठीक हो चुके हैं जबकि कुछ मरीजों का इलाज शहर के सरकारी चिकित्सालयों में चल रहा है। इसी प्रकार लखनऊ में अब तक डेंगू के कुल 282 मरीज मिले हैं। जिनमें से दो मरीजों की मौत डेंगू से हुई है। स्वाइन फ्लू के भी अब तक करीब 22 सौ मरीज मिले हैं जबकि 14 मरीजों की मौत स्वाइन फ्लू के कारण हो गयी है।

लक्षण
1. तेज बुखार
2. जोड़ों में तेज दर्द
3. चकत्ते पड़ जाना
4. चक्कर आना और उल्टी महसूस होना भी
5. मांसपेशियों में खिंचाव और दर्द,

उपचार 
बलरामपुर अस्पताल के डा बीकेएस चौहान ने बताया कि चिकनगुनिया वायरस जनित बीमारी है। यह मच्छरों के काटने से फैलती है। ऐसे में सबसे जरूरी है कि मच्छरों से बचकर रहें। अपने आस-पास सफाई रखें। पूरे कपड़े पहनें और सतर्क रहें। चिकनगुनिया में अक्सर लोगों को डी-हाइड्रेशन की शिकायत हो जाती है। ऐसे में ज्यादा से ज्यादा लिक्विड लें। लिक्विड डाइट लेना भी फायदेमंद रहेगा। उन चीजों को ज्यादा से ज्यादा लें जिनसे विटामिन सी मिले। विटामिन सी इम्यून सिस्टम को बूस्ट करने का काम करता है। बहुत अधिक ऑयली और स्पाइसी खाने से परहेज करें। नारियल पानी और सब्जियों का सूप जरूर लें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here