विजय त्रिपाठी, लखनऊ। यूपी सरकार में गठबंधन के तहत कैब‍िनेट मंत्री बने भासपा के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने एक प्रेस वार्ता में कहा कि लालू यादव की सुरक्षा हटाना केंद्र सरकार का गलत फैसला है। हम गुजरात में बीजेपी के ख‍िलाफ चुनाव लड़ेंगे। वहीं, यूपी निकाय चुनावों में वोटर लिस्ट में गड़बड़ी पर कमिश्नर स्तर पर बीएलओ की जांच के आदेश दिए जाने पर उन्होंने नाराजगी जताई। उन्होंने कहा कि निकाय चुनावों में जो गड़बड़ी हुई उसके लिए बीएलओ नहीं, बल्कि कमिश्नर और डीएम जिम्मेदार हैं। उनको सस्पेंड कीजिए, असल में पूरी प्रक्रिया को ही बदलना होगा।

नगर निकाय चुनाव में नाम कटने से हजारों लोग वोट नहीं दे पाए। वोट न डाल पाने में पूर्व केंद्रीय मंत्री कलराज मिश्रा का भी नाम शामिल था। इस मामले पर संज्ञान लेते हुए आयोग ने सभी डीएम को तलब किया था।इसके बाद लखनऊ के डीएम ने 3 बीएलओ को सस्पेंड कर दिए। वहीं, आयोग ने इसकी जांच लखनऊ कमिश्नर से कराने की मांग की। इसपर कमिश्नर ने आयोग को तलब किया।

भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर गठबंधन के तहत यूपी सरकार में कैबिनेट मंत्री हैं। बीएलओ मुद्दे पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि इसमें सीधे तौर पर डीएम कमिश्नर जिम्मेदार हैं। उनके सस्पेंशन पर बात बनेगी, तभी सही मेसेज जाएगा। उनकी जिम्मेदारी थी कि हर स्तर पर माॅनिटरिंग करते, लेकिन अपनी जिम्मेदारी से बचने के लिए तत्काल बीएलओ को सस्पेंड कर दिया। वो तो बहुत छोटा कर्मचारी है, उसके ऊपर जो बड़े अधिकारी हैं उन्होंने क्या किया।

भारत के बढ़ते कद से चीन परेशान, कई मुद्दों पर हो सकती है तनातनी