नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी को आयकर विभाग ने बड़ा झटका देते हुए पार्टी को 30 करोड़ रूपये का नोटिस दिया है। पार्टी पर 2014 में चंदे को लेकर सही सूचना न देने का आरोप है। पार्टी ने चंदे को लेकर जो सूचना विभाग को दी थी वो सही नहीं थी। बता दें कि आप के चंदे पर विपक्षी दल सवाल उठाते रहे हैं। ये मामला इस साल की शुरुआत में उस समय भी उछला था जब आयकर विभाग ने पार्टी के नेताओं को नोटिस देकर उनसे चंदे के बारे में जवाब-तलब करने के लिए उन्हें पेश होने को कहा था।

तब पार्टी के नेताओं यह आरोप लगाया था कि आयकर विभाग केंद्र सरकार की शह पर पार्टी को परेशान कर रहा है। जब ये मामला उठा था तब केजरीवाल ने पीएम मोदी और बीजेपी पर जमकर हमला बोला था। केजरीवाल ने कहा था कि आयकर विभाग आम आदमी पार्टी को प्रताड़ित कर रहा है। मोदी जी, रिश्वत ख़ुद खाते हो, जांच हमारी कराते हो? काला धन भाजपा लेती है, जांच ‘आप’ की? चोरी और सीनाज़ोरी?’

जिस समय पार्टी को टैक्स मिला है उस समय गुजरात में चुनाव का माहौल है। बता दें कि गुजरात चुनाव में पार्टी ने विधानसभा चुनाव के मद्देनजर कुछ सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं। आयकर विभाग ने अपने ताजा नोटिस में पार्टी को 10 दिनों के अंदर 30 करोड़ 37 लाख रूपये का टैक्स चुकाने को कहा है। लेकिन अायकर विभाग की नोटिस के बाद आप के सूत्रों ने इसे मोदी सरकार द्वारा बदले की कार्रवाई बताया है।

नोटिस मिलने के बाद आप नेता बौखला गए हैं और आप को शीर्ष नेताओं ने कहा है कि वे इससे डरेंगे नहीं। पार्टी नेताओं का कहना है कि वे नोटिस के खिलाफ कानूनी विकल्प का इस्तेमाल करेंगे।