नई दिल्ली।  दिल्ली में बीमर थेरेपी की जीवन में महत्ता को लेकर एक कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया गया जिसमें काफी संख्या में देश-विदेश के चिकित्सकों ने शिरकत की। बीमर थेरेपी को लेकर बीमर इंडिया ने वार्षिक अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य सम्मेलन का आयोजन किया जिसमें बीमर थेरेपी की जरूरत और उसके इस्तेमाल के तरीकों के बारे में बताया गया। बीमर इंडिया की सीईओ चितवन मलिक ने बीमर थेरेपी को लेकर जानकारी दी।

वहीं डॉक्टर एचएस आर अरोड़ा ने भी वर्तमान लाइफ स्टाइल से होने वाले दुष्प्रभावों के बारे में बताया और कहा कि आज लोगों की उम्र पहले के मुकाबले घट गई है। इसलिये अपने स्वास्थ्य के प्रति हमें गंभीर होने की जरूरत है। बीमर थेरेपी ऑटिज्स में भी अच्छा असर दिखाती है। मनोचिकित्सक माधवी अदिमूलम ने ऑटिज्म और उसके प्रभाव को लेकर जानकारी दी।

दिल्ली में शनिवार को आयोजित किये गए इस अंतर्राष्ट्रीय समारोह में चिकित्सकों ने अपने विचार व्यक्त किये, साथ ही जीवन में एक व्यक्ति के अपने हेल्थ को लेकर जागरूक रहने के प्रति सचेत किया।

ईवीएम की गड़बड़ी पर राज्यपाल ने जो कहा उससे आरोप लगाने वालों की बोलती बंद