विजय त्रिपाठी, लखनऊ। आखिरी दिन नगर निगम चुनाव में सभी प्रत्याशियों ने लगभग पूरी ताकत झोंक दी। उत्तर प्रदेश में चल रहे नगर निकाय के चुनाव में दूसरे चरण के अंतर्गत आने वाले राजधानी और तमाम इलाकों में शुक्रवार शाम चुनाव प्रचार समाप्त हो गया। एक ओर जहां सत्ता दल के मुखिया खुद जमीन पर उतर कर लगभग 33 सभाएं कर पसीना बहा रहे हैं, पार्टी के प्रत्याशियों के लिए पूरा जोर लगा रहे है। वहीं दूसरी ओर कांग्रेस भी लगभग अपनी पूरी ताकत से चुनाव प्रचार में लगी हुई है।

शुक्रवार को प्रचार के अंतिम दिन कांग्रेस ने भी रोड शो कर अपनी ताकत दिखाई। जनता को भी अब प्रचार खत्म होने से राहत महसूस होगी। कांग्रेस प्रत्याशी प्रेमा अवस्थी ने चुनाव प्रचार के आखिरी दिन रोड शो का सहारा लेते हुए अपने मुख्य चुनाव कार्यालय से जुलूस की शक्ल में सैकड़ों की तादाद में दोपहिया वाहनों के साथ एक विशाल जुलुस निकाला। पार्टी कार्यकर्ताओं ने नारे लगाते हुए शहर की सड़कों को  गुंजायमान कर दिया। प्रेमा अवस्थी ने नगर के विकास का मुद्दा उठाते हुए बीजेपी पर आरोप लगाया कि दो दशकों से भारतीय जनता पार्टी नगर निगम में काबिज हैं लेकिन अब भी सुविधाओं का रोना रोती नजर आती है।

उन्होंने मतदाताओं से अपील की कि महिलाएं और खासकर लखनऊ के युवा वर्ग वोट डालने जरूर जाएं जिससे परिवर्तन हो सके। आम जनता बीजेपी के झूठे वादों से परेशान हो गई है और अब उनसे आजिज भी आ चुकी है। जगह- जगह जुलूस का स्वागत कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मंच सजाकर किया और रोड शो में जुलूस का हिस्सा बनते हुए पूरे शहर में भ्रमण किया रोड शो में मुख्य रूप से रमेश श्रीवास्तव, प्रदेश प्रवक्ता पंकज तिवारी, शिव पांडे, अरविंद पांडे शहर अध्यक्ष बोद्धलाल शुक्ला समेत तमाम नेता मौजूद रहे।

बॉलीवुड में अभिनेत्रियों को एक उम्र के बाद किरदार मिलना मुश्किल : शेफाली