आलोक द्विवेदी, लखनऊ। प्रदेश की राजधानी लखनऊ के दौरे पर आये कोरियाई डेलिगेशन ने आज (शुक्रवार) को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से उनके सरकारी आवास पर मुलाकात की। इस दौरान कोरियाई डेलिगेशन और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बीच लम्बे समय तक कई मुद्दों पर बातचीत चली। जानकारी के मुताबिक कोरियाई डेलिगेशन उत्तर प्रदेश पर्यटन में निवेश करने को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिला था। बैठक के बाद प्रमुख सचिव सूचना अवनीश अवस्थी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और कोरियाई डेलिगेशन के बीच हुई बैठक के बारे में बताते हुए कहा कि कोरियाई डेलीगेशन से आज सीएम की मुलाकात हुई है। हमारे कोरिया से अच्छे संबंध हमेशा से रहे हैं।

उन्होंने कहा कि डेलीशन से मुलाकात के बाद हमारे संबंध और मजबूत होंगे हमारे बीच पर्यटन को लेकर एमओयू साइन हुआ है। इससे पर्यटन को तो बढ़ावा मिलेगा ही साथ ही हमारे संबंध भी और मजबूत होंगे। इसी के मद्देनज़र हम लोग आज बैठक करेंगे जिसमें पर्यटन को आगे बढ़ने को लेकर समीक्षा की जाएगी। प्रमुख सचिव सूचना ने आगे कहा कि प्रधानमंत्री जब कोरिया गए थे तो जॉइंट डिक्लेरेशन में अयोध्या और कोरिया के बीच जो सांस्कृतिक संबंध दो हजार साल से भी पुराना है, उसको आगे ले जाने का जॉइंट डिक्लेरेशन हुआ था। कोरियाई दल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बीच पर्यटन को लेकर बातचीत हुई।

इस बातचीत में अयोध्या में स्थित कोरियाई स्मारक स्थल को लेकर भी बातचीत हुई है। यह स्मारक राम कथा पार्क के ठीक बगल में स्थापित है, जो कि कोरिया सरकार के सहयोग से बना है। कोरियाई किवदंतियों के अनुसार अयोध्या के राजा की पुत्री कोरिया की यात्रा पर गयी थी। जिन्होंने वहां के राजकुमार से शादी कर ली। कोरिया में करक साम्राज्य की स्थापना करने वाले किंग सूरो की पत्नी क्वीन हुह की याद में यह स्मारक बनवाया गया है। जिसे देखने के लिए हर साल अच्छी खासी संख्या में कोरियाई लोग पहुँचते हैं। इसलिए अयोध्या के पर्यटन पर कोरियाई डेलिगेशन ने विशेष बल दिया।

यूपी में वास्को डि गामा- पटना एक्सप्रेस दुर्घटनाग्रस्त, तीन की मौत, दर्जनों घायल