प्रतिकात्मक तस्वीर

लखनऊ। नवंबर माह को यातायात माह के रूप में मनाया जाता है। जिससे ट्रैफिक व्यवस्था को सुधारा जा सके। साथ ही ट्रैफिक रूल्स के बारे में लोगों को जागरूक किया जा सके और ट्रैफिक नियमों का पालन कराया जा सके। सुरक्षा को लेकर यह अभियान एक माह तक चलाया जाता है जिससे होने वाली सड़क दुर्घटनाएं कम हो सके और लोग नियमों का पालन करे।

इसी कड़ी में लखनऊ के हजरतगंज चौराहे पर बिना सीट बेल्ट और हेलमेट लगाए वाहन चालकों को रोक कर लखनऊ आरटीओ, ट्रैफिक पुलिस, थाने की पुलिस द्वारा चेकिंग अभियान चलाया गया जिसमें हेलमेट ना लगाने पर 106 और सीट बेल्ट न लगाने पर 76 लोगों का चालान कर नियम बताया गया। राजधानी लखनऊ में एक्सीडेंट की वारदातों को कम करने और दुर्घटना से बचने के लिए हेलमेट और सीट बेल्ट का प्रयोग करने के लिए पब्लिक को लखनऊ के आरटीओ, ट्रैफिक पुलिस के साथ-साथ थेन की पुलिस ने जागरूकता के साथ-साथ चालान भी काटा।

वहीं बिना हेलमेट और बिना सीट बेल्ट लगाए लोगों को पुलिस ने रोक कर उनका चालान किया। साथ ही आगे से गाड़ी चलाते वक्त सीट बेल्ट और हेलमेट का प्रयोग करने की लोगों को सख्त हिदायत दी। लखनऊ आरटीओ ने बताया कि अब दोपहिया वाहनों पर चलाने वाला व्यक्ति भी हेलमेट लगाएगा और पीछे बैठने वाले भी व्यक्ति को भी हेलमेट लगाना होगा।

आरटीओ ने बताया कि इसकी अनिवार्यता कर दी गई है लेकिन चुनाव की वजह से अभी इसमें थोड़ा वक्त लगेगा। चुनाव खत्म होते ही इसकी अनिवार्यता शहर के अंदर पूरी तरीके से लागू कर दी जाएगी। लेकिन देखने वाली बात यह है कि पुलिस और आरटीओ द्वारा चलाए जा रहे सीट बेल्ट और हेलमेट का यह अभियान कितना कारगर साबित होता है यह तो आने वाला वक्त ही बताएगा क्योंकि राजधानी के अंदर आए दिन ट्रैफिक व्यवस्था ध्वस्त रहती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here