विजय त्रिपाठी, लखनऊ। निकाय चुनावों के प्रथम चरण में ही पकड़ी गयी ईवीएम की गड़बड़ियों पर आम आदमी पार्टी ने गुरुवार को तीखा हमला बोला। लखनऊ में आयोजित एक प्रेस कांफ्रेंस में पार्टी के प्रदेश प्रवक्ताओं ने प्रथम चरण में मिली गड़बड़ियों के बारे में विस्तार से बताते हुए कहा कि कई जगह ऐसी ईवीएम पकड़ी गयीं जिनमें किसी भी बटन को दबाने पर उसका वोट भाजपा को ही जा रहा था। चुनाव अधिकारियों द्वारा मशीन के ख़राब होने और उसको बदले जाने पर पार्टी प्रवक्ता सभाजीत सिंह ने सवाल उठाया कि मशीन ख़राब होने पर उसका फायदा एक ही पार्टी को क्यों मिल रहा है, किसी भी अन्य पार्टी को वोट कभी क्यों नहीं जाता।

प्रदेश प्रवक्ता वैभव महेश्वरी ने कहा कि पूर्व में भी कई बार ईवीएम की गड़बड़ियाँ सामने आई हैं जिसपर आम आदमी पार्टी ने सबसे मुखर होकर आवाज उठाई है। लेकिन चुनाव आयोग ने शंका समाधान की दिशा में कोई पुख्ता कदम नहीं उठाया। उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी ने पहले भी कहा है कि इसी तरह से ईवीएम को भी हैक करके परिणाम में हेरफेर की गयी है। पार्टी ने कहा कि स्वयं चुनाव आयोग ने भी यह माना है कि उनकी पुरानी मशीन सुरक्षित नहीं हैं और इनको बदले जाने की आवश्यकता है, हजारों मशीनों की खरीद का आर्डर भी दिया जा चुका है तो फिर ऐसी क्या मजबूरी या साजिश है कि उन्हीं पुरानी ईवीएम मशीन से ही चुनाव करवाए जा रहे हैं।

पार्टी प्रवक्ता ने चुनाव आयोग की चुप्पी पर सवाल उठाते हुए कहा कि इतने खुले रूप से धांधलियां सामने आने के बाद भी यदि चुनाव आयोग कोई कार्रवाई नहीं करता है तो ये समझा जाना चाहिए कि वो सत्ताधारी दल भाजपा को फायदा पहुँचाने की इस साजिश में शामिल है। पार्टी प्रवक्ता सभाजीत सिंह ने एक और मामला बताया कि अयोध्या नगर निगम क्षेत्र में देखा गया कि वार्ड पार्षद और मेयर चुनाव की दोनों ईवीएम के बटन एक साथ दबाने पर ही वोट स्वीकार हो रहा था अन्यथा नहीं। उन्होंने कहा कि इस गंभीर गड़बड़ी की जाँच की जाये और इसको दूर किया जाय।

पार्टी के यूपी प्रभारी संजय सिंह ने ट्वीट करके ईवीएम द्वारा चुनाव निरस्त करके बैलट पेपर से करवाए जाने की मांग की। उन्होंने कहा कि केंद्र, राज्य और निगमों में काबिज भाजपा की यदि हिम्मत हो तो वो पेपर बैलट से चुनाव लड़ के दिखाए, जनता उनके विकास के दावे की असलियत बता के रख देगी। पार्टी ने इस सम्बन्ध में उप्र राज्य निर्वाचन आयोग को एक पत्र लिख कर इन गड़बड़ियों की तरफ ध्यान दिलाते हुए EVM का इस्तेमाल बंद करके बैलट पेपर से चुनाव करवाने की मांग रखी है।