लखनऊ। पद्मावती विवाद के बीच उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पद्मावती फिल्म को लेकर भंसाली को दोषी ठहराते हुए कहा कि भंसाली को जनभावनाओं से खेलने की आदत हो गयी है। संवाददाताओं से बातचीत में योगी ने कहा कि किसी को कानून हाथ में लेने का अधिकार नहीं है, चाहे वो संजय लीला भंसाली हों या फिर कोई और।’

सीएम योगी ने कहा कि ‘मुझे लगता है कि अगर फिल्म और उसके कलाकारों को धमकी देने वाले दोषी हैं तो ये भंसाली भी कम दोषी नहीं है।’ योगी ने कहा, ‘भंसाली जन भावनाओं से खेलने के आदी हो चुके हैं।’ उन्होंने कहा कि अगर कार्रवाई होगी तो दोनों पक्षों पर समान रूप से होगी। योगी ने कहा कि एक दूसरे की भावनाओं का सम्मान सबको करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने 19 नवंबर को कहा था कि वह बॉलीवुड की फिल्म पद्मावती को तबतक यूपी में रिलीज नहीं होने देंगे जबतक इस फिल्म से विवादित और आपत्तिजनक दृश्यों को हटाया नहीं जाता। राज्य के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि महान रानी ने आक्रांता शासक के समक्ष आत्मसमर्पण करने की बजाय अपने जीवन की आहुति दे दी और इतिहास में अपनी जगह बनायी।

उन्होंने कहा कि इस्लामिक आक्रमणकारियों ने देश पर बहुत हमले किये। रानी अपने सतीत्व और मर्यादा की रक्षा के लिए जौहर कर जिन्दा जल गयी। मौर्य ने कहा कि जब तक फिल्म के विवादास्पद दृश्य हटा नहीं दिये जाते, हम फिल्म को उत्तर प्रदेश में रिलीज नहीं होने देंगे। बता दें कि उत्तर प्रदेश सरकार ने 15 नवंबर को केन्द्र सरकार को पत्र लिखकर कहा था कि एक दिसंबर को इस फिल्म की रिलीज राज्य की कानून व्यवस्था के हित में नहीं होगा।