नई दिल्ली। हर साल हजारों लोग माता वैष्णो देवी की यात्रा करते हैं। लेकिन NGT ने एक ताजा फैसले में कहा है कि अब मात्र 50 हजार यात्री ही माता के दर्शन कर सकेंगे। एनजीटी का आदेश आज से ही लागू हो गया है। इस फैसले के बाद यात्रा करने वाले लोगों को अब अपनी बारी के लिए ज्यादा इंतजार करना पड़ेगा। एनजीटी ने अपने आदेश में कहा कि यदि तय संख्या से ज्यादा लोग वहां पहुंचते हैं तो उन्हें अर्द्धकुंवारी या कटरा में ही रोक दिया जाए।

एनजीटी का कहना है कि माता वैष्णो के दरबार में अधिकतम 50 हजार लोगों की ही क्षमता है। इससे अधिक लोगों को वहां जाने की इजाजत देने से लोगों के लिए खतरनाक स्थिति हो सकती है। इसी की चलते यह रोक लगाई गई है। हालांकि यह रोक कबतक जारी रहेगी इसपर अभी तक एनजीटी की तरफ से कोई भी एडवाइजरी जारी नहीं की गई है।

बता दें कि एनजीटी ने यह आदेश बढ़ते प्रदूषण की वजह से दिया है। साथ ही वैष्णो देवी या उसके आसपास चल रहे किसी भी तरह के निर्माण पर रोक लगा दिया गया है। एनजीटी ने कहा कि वैष्णो देवी को जाने वाले केवल पैदल यात्रियों और बैट्री से चलने वाली कार के लिए 24 नवंबर से एक विशेष रास्ता खुलेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here