लखनऊ। पारिवारिक विवादों के बीच अखिलेश यादव को अपना आशीर्वाद देने के बाद 11 महीने बाद किसी सार्वजनिक कार्यक्रम में अखिलेश और मुलायम एक साथ नजर आए। इससे पहले 21 नवम्बर 2016 को आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे के उद्घाटन के मौके पर दोनों एक साथ नजर आए थे।

इस बार मौका था लोहिया के 51वें स्मृति दिवस का। जब अखिलेश और मुलायम श्रद्धांजलि देने लोहिया पार्क पहुंचे थे।  लोहिया पार्क में पहुंचे मुलायम और अखिलेश ने साथ खड़े होकर मीडिया के सामने फोटो खिंचाई। इस दौरान माहौल काफी खुशनुमा रहा। मुलायम मुस्कुराते रहे तो बेटा अखिलेश भी खुश दिखा। दोनों का चेहरा देखकर सबसे ज्यादा सपाई खुश नजर आ रहे थे। सपाइयों में खुशी इस बात से ज्यादा थी कि काफी दिनों बाद बाप- बेटे साथ दिखे।

बहरहाल एक मंच पर मुलायम-अखिलेश के साथ आने से चर्चा शुरू हो गयी है कि क्या मुलायम का कुनबा एक हो रहा है? दरअसल, सपा के राष्ट्रीय अधिवेशन में अखिलेश ने बताया था कि उन्हें मुलायम के साथ-साथ चाचा शिवपाल का भी आशीर्वाद मिल गया है। वहीं, शिवपाल ने 5 अक्टूबर को ट्वीट कर अखिलेश को बधाई भी दी थी और यादव परिवार में चल रही अनबन को ख़त्म करने की पहल भी की थी।

हालांकि इस मौके पर शिवपाल-अखिलेश तो साथ नहीं दिखे लेकिन मुलायम अलग-अलग दोनों के साथ नजर आये। वहीं सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने कहा कि अखिलेश को हमारा आशीर्वाद है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि भारत को चीन से सावधान रहना चाहिए, बोले चीन धोखेबाज़ देश है।