नई दिल्ली। वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल बी एस धनोआ ने कहा कि भारतीय वायुसेना संक्षिप्त नोटिस पर भी युद्ध लड़ने के लिये तैयार है। वायुसेना दिवस के मौके पर वायुसेना कर्मियों को संबोधित करते हुये धनोआ ने कहा कि वायुसेना देश के सामने आने वाली किसी भी सुरक्षा चुनौती का सामना करने के लिये पूरी तरह तैयार है।

बता दें कि वायुसेना अपना 85वां स्थापना दिवस मना रही है। इस मौके पर वायुसेना प्रमुख बीएस धनोया ने हिंडन एयरबेस पर वायुसैनिकों को संबोधित किया। उन्होंने अपनी बात को दोहराते हुए फिर कहा कि वायुसेना कम समय में भी युद्ध के लिए तैयार है। 

सुरक्षा परिदृश्य के बारे में बात करते हुये उन्होंने कहा, ‘‘हम संक्षिप्त नोटिस पर जंग के लिये तैयार हैं।’’ उन्होंने यह भी कहा कि वायुसेना बहुपक्षीय रणनीतिक क्षमताएं हासिल कर रही है और थल सेना तथा नौसेना के साथ मिलकर संयुक्त रूप से काम करने के लिये प्रतिबद्ध है।

इस मौके पर धनोआ ने कहा कि पिछले साल पठानकोट में वायुसेना स्टेशन पर हुए आतंकी हमले को देखते हुए किसी भी चुनौती का सामना करने के लिये सभी वायुसैनिक अड्डों की सुरक्षा बढ़ा दी गयी है।

उन्होंने कहा कि पिछले साल जनवरी में आतंकवादी सीमा पार कर भारत में घुस आए थे और उन्होंने वायुसेना स्टेशन पर हमला कर दिया था। इस दौरान सात सुरक्षाकर्मियों की जान चली गयी थी और चार आतंकवादी मारे गये थे।

लगातार हो रही दुर्घटनाओं पर चिंता व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि शांतिकाल के दौरान लड़ाकू विमानों और हेलिकॉप्टर्स का दुर्घटनाग्रस्त होना चिंता का विषय है। शुक्रवार को ही अरूणाचल प्रदेश में वायुसेना का ही हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त हो गया था जिसमें 05 वायुसेनाकर्मी और 02 थलसेना के जवान शहीद हो गए थे। 

इस दौरान वायुसेना ने अपनी ताकत का भी प्रदर्शन किया। इस मौके पर वायुसेना का प्रमुख जंगी विमान सुखोई, जगुआर, मिराज, मिग, तेजस लड़ाकू विमानों ने फ्लाई पास्ट किया और हवा में कलाबाजियां दिखाई। इसके अलावा मालवाहक विमान सी17 ग्लोबमास्टर और सी130 जे सुपरहरक्युलिस और हेलीकॉप्टर्स ने भी अपना दमखम दिखाया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here