कोलकाता। पूर्व केंद्रीय मंत्री और तृणमूल कांग्रेस के सांसद सुल्तान अहमद का सोमवार को अपने आवास पर दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। वह 64 वर्ष के थे। सुल्तान अहमद के परिवार में उनके अलावा पत्नी और दो बेटे हैं। अस्पताल के सूत्रों का कहना है कि अहमद एक निजी अस्पताल में पहले भर्ती थे। बाद में निजी अस्पताल से इस अस्पताल में लाया गया जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। अहमद तृणमूल कांग्रेस के टिकट पर उलूबेरिया लोकसभा सीट से निर्वाचित हुये थे।

अहमद के निधन पर ममता ने जताया शोक

अहमद मनमोहन सिंह की संप्रग सरकार में केंद्रीय पर्यटन राज्य मंत्री भी रह चुके थे। वह दो बार पश्चिम बंगाल विधानसभा के सदस्य भी रहे। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने उनके निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। उन्होंने एक ट्वीट में कहा, ‘‘सल्तान अहमद के निधन से बेहद दुखी और स्तब्ध हूं जो तृणमूल कांग्रेस के मौजूदा सांसद और लंबे समय से मेरे सहयोगी थे। उनके परिवार के प्रति संवेदनायें।’’ राज्यपाल केसरी नाथ त्रिपाठी ने भी अहमद के निधन पर दुख व्यक्त किया है।

बता दें कि सुल्तान अहमद ने 1969 में मौलाना आजाद कॉलेज छात्र परिषद और 1973 में युवा कांग्रेस में शामिल हुए थे। वह 1978 से 80 तक युवा कांग्रेस के जिला सचिव थे। 1997 में वो तृणमूल कांग्रेस के संस्थापक सदस्यों में से एक थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here