हार्ट अटैक के चलते फौजी का निधन

अमर भारती संवाददाता
शिकारपुर के गांव बरासऊ निवासी 38 वर्षीय सुंदर सिंह पुत्र रघुनाथ सिंह हार्ट अटैक के चलते निधन हो गया। जिसके बाद पूरे राजकीय सम्मान के साथ उनके शव को उनके पैतृक गांव लाया गया और अंतिम संस्कार कर किया गया। सुंदर सिंह वर्ष 2001 में आर्मी में बतौर सिपाही भर्ती हुए थे और वर्तमान में वह लद्दाख में तैनात थे। बलिदानी सुंदर सिंह अपने पीछे माता-पिता, 3 छोटे भाई, पत्नी, एक 6 साल की बेटी और 12 साल के बेटे को अकेला छोड़ गए।
दरअसल, आपको बता दें कि लेह लद्दाख में तैनात फौजी सुंदर सिह मां भारती की सेवा करते हुए वीरगति को प्राप्त हो गए। वीरजवान की शहादत की खबर सुन गांव में सन्नाटा पसर गया। जब वीरजवान सुंदर का पार्थिव शरीर उनके निवास स्थान लाया तो परिजन बिलख उठे। मां पत्नी का चीत्कार से हर किसी की आंखे नम थी। 6 साल की मासूम बेटी तो समझ ही नहीं पा रही थी ये क्या हो रहा है। बलिदानी की शौर्य यात्रा में हजारों की तदाद में लोग उनके वाहन के पीछे चल रहे थे। भारत माता की जय, जवान सुंदर सिंह अमर रहे के नारों से आसमान गूंज उठा। गांव का हर शख्स वीरजवान के अंतिम दर्शन के लिए मौजूद था।
लेह लद्दाख में तैनात फौजी फौजी सुंदर सिह मां भारती की सेवा करते हुए वीरगति को प्राप्त हो गए