पति ने ही चेहरे पर फेंका तेजाब

बंगाल में रहने वाली एक महिला पर उसके ही पति ने एसिड फेंक दिया. आनन फानन में स्थानीय लोगों ने महिला को अस्पताल में भर्ती कराया. पीड़ित का वर्तमान में हाबरा स्टेट जनरल अस्पताल में इलाज चल रहा है. बताया जा रहा है कि ससुराल से मनमुटाव के चलते महिला काफी समय से अपने मायके में रह रही थी.

दरअसल, यह घटना बुधवार को उत्तर 24 परगना जिले के अशोकनगर पुलिस स्टेशन के दौलतपुर इलाके में हुई. पारिवारिक सूत्रों के अनुसार, पीड़िता का नाम सबिता सरकार है. वह सेंदंगा इलाके में रहती है. सबिता ने कुछ साल पहले गडामारा इलाके में दिलीप मजुमदार से शादी की थी. शादी के बाद, सबिता सरकार ससुराल से मनमुटाव के बाद अपने पिता के घर पर ही रहती थी.

बताया जा रहा है कि महिला हमेशा की तरह, सबिता अपनी साइकिल से बुधवार सुबह काम पर जा रही थी. जब उसके पति दिलीप मजुमदार ने दौलतपुर इलाके में उस पर एसिड से हमला कर दिया. वह अपनी साइकिल से नीचे गिर गई. एसिड से महिला की गर्दन और चहरे के किनारे का हिस्सा जल गया. हमले से वह गंभीर रूप से घायल हो गई.

उसके बाद, उसने पड़ोसी मिंट्टी गोराई के घर में शरण ली. इस पूरी घटना से इलाके में हड़कंप मच गया. आनन फानन में लोगों ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया. घटना के बाद, उनके पिता नारायण सरकार को सूचित किया गया और वह अस्पताल पहुंचे. पिता नारायण सरकार ने आरोपी के खिलाफ पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई है.

अशोकनगर पुलिस ने भी घटना की जांच शुरू कर दी है. पड़ोसी मिंटी गोराई का कहना है कि यह घटना सुबह करीब 9 बजे हुई. मैं खाना बना रहा था तभी अचानक एक महिला मेरे पास आई और मुझसे कहने लगी कि एक औरत को शायद दौरा पड़ा है वह जमीन पर गिरी हुई है उसकी मदद कीजिए. जब मेरी पत्नी ने उसे देखा और उसने बताया कि उसके मुंह पर तेजाब है. हम उस महिला को नहीं जानते हैं. तेजाब के हमले के बाद मेरे घर में शरण ली. उसे बाद में अस्पताल में भर्ती कराया गया.

उधर, एसिड अटैक की शिकार पीड़िता के पिता नारायण सरकार ने कहा कि उनकी बेटी के पति दिलीप मजुमदार ने पारिवारिक मनमुटाव के कारण उस पर एसिड फेंक दिया. मेरी बेटी एक निजी कंपनी में काम कर रही थी. जब वह आज सुबह काम करने के लिए जा रही थी.

उस पर एसिड से हमला किया गया था. बाद में, उसके सहयोगियों ने मुझे फोन किया और मुझे इस घटना के बारे में सूचित किया. पिता नारायण बाबू की मांग है कि मेरी बेटी को लंबे समय से प्रताड़ित किया जा रहा है. मैं चाहता हूं कि दोषियों को कड़ी सजा दी जाए और हमें न्याय दिलाया जाए.